Tag Archives: बुलबुल शायरी

शायरी – तेरे लब की दिलकश परेशानी भी देखी

prevnext

पिंजरे में बुलबुल की जिंदगानी भी देखी
कांटों में एक गुल की जवानी भी देखी

हर पल दर्द का एक नया मोड़ लेती
मुहब्बत की कमसिन कहानी भी देखी

सौतन की दुश्मनी को भी मात देती
दुनिया की बेरहम कारस्तानी भी देखी

मेरे इश्क को ठुकराने से ठीक पहले
तेरे लब की दिलकश परेशानी भी देखी

कितनी चोटें तूने छोड़ी मेरे दिल पे
तेरे जख्मों की हर एक निशानी भी देखी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दीदार को प्यासी रही मेरी दो अंखियां

love shayari hindi shayari

दीवारों से घिरा है दिलबर का आशियां
दीदार को प्यासी रही मेरी दो अंखियां

किस अंजुमन में आके बुलबुल तू कैद है
इस बाग में सैयाद की है बेरहम दुनिया

रिश्तों के बंधन ने पहरे लगा दिए हैं
घुट-घुट के काटती हो यौवन की घड़ियां

ये कैसे हालात हैं तेरे गुलशन में ऐ खुदा
भंवरे को मिलती है यहां टूटी हुई कलियां

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari