Tag Archives: बेखुदी शायरी

shayari – कुछ दिनों से जाने यह कहां खो गया है

shayari latest shayari new

तेरा गम उसे आज शायरी

कुछ दिनों से जाने यह कहां खो गया है
मेरा ये दिल भी अजनबी सा हो गया है

मुझमें तुम हो और बेखुदी में गुम हूं मैं
आईना कहता है, मुझे इश्क हो गया है

कुछ दर्द जो देते हैं रोज जिगर पे दाग
तेरा गम उसे आज आंसू से धो गया है

कभी फुरसत मिले, मेरे दिल को सुनो
जो तेरी याद में चुपके-चुपके रो गया है

shayari green pre shayari green next

शायरी – न आखिरी ख्वाहिश है बची

#100 दर्द शायरी

न आखिरी ख्वाहिश है बची

न आखिरी तमन्ना है कोई

 

बेखुदी में कटे ये दर्दे-सफर

राह में बेदर्द मिले न कोई

  1. वो गज़ल है जो मिली है कोरे कागज़ को
  2. अश्कों में डूबता हुआ जलता हुआ दिल है
  3. दिल के मसले पे न बनिए खुदगर्ज़ सनम
  4. जिस अज़नबी ने मुझको तलबगार किया है

शायरी – आज की रात बरसेगा रातभर

love shyari next

आज की रात बरसेगा रातभर
अश्क नजरों से बहेगा रातभर

जुदाई के हाथ में खंजर होगा
मेरा सीना छलनी होगा रातभर

बेखुदी दिल में रहेगी मेजबानी में
दर्द मेहमान बन रहेगा रातभर

जिसने ठुकराया हमें जमाने में
आज वो याद आएगा रातभर

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जुल्म करती है जब मुझपे तन्हाई

love shyari next

बेवफा हो गया है दर्द मुझी से
दूर का रिश्ता हो गया खुशी से

एक बादल का टुकड़ा उड़ता था
हमने बरसते देखा उसे बेबसी से

कोई कश्ती जब किनारे लगती है
वो ठहरती है कितनी खामोशी से

जुल्म करती है जब मुझपे तन्हाई
कत्ल करता हूं अपनी बेखुदी से

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तुमसे हर एक मुलाकात मुझे याद आई

love shayari hindi shayari

तुमसे हर एक मुलाकात मुझे याद आई
जब भी तन्हाई में जी लेने की बात आई

दर्द को देखना चाहा था अपने जीवन में
सांवली सी कोई लड़की बड़ी उदास आई

मैं बहुत रोया था उस रात जब तेरे दर पे
तुझे लेने को किसी गैर की बारात आई

तेरे जीने की खबर, न अपने मरने की खबर
बेखुदी भी तो जुदाई के ही साथ आई

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – दिले-नादां और कितनी दूर जाएगा

love shayari hindi shayari

दिले-नादां और कितनी दूर जाएगा
किस शहर में तेरा दर्द मिल जाएगा

जिन चिरागों से रोशनी खफा है अभी
उस बुझे दिल को चांद न मिल पाएगा

अब ये फुरकत के सदमे न सह पाएंगे
तेरे बिन जिंदगी खाक में मिल जाएगा

हर हकीकत से जुदा हूं मैं दुनिया में
बेखुदी तुमसे खयालों में ही मिल पाएगा

फुरकत – जुदाई

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मेरी राहों पे रहबर मुझे खींचता चला गया

love shyari next

मेरी राहों पे रहबर मुझे खींचता चला गया
मैं उसे देख न पाया और चलता चला गया

इन समाजों की जंजीरों में मन घुटता था
इसलिए भीड़ में मैं तन्हा होता चला गया

आपको देखकर भी पूछना तो भूल गया मैं
आपके बारे में ही दिल सोचता चला गया

मेरी दुनिया में बेखुदी थी मगर मैं न था
खबर थी कि जिंदा हूं पर मरता चला गया

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जलते दिल की खामोशी ये कह गई

prevnext

रात भीगी चांदनी में जल गई
खाक में तस्वीर तेरी मिल गई

याद का साया कहीं मिलता नहीं
बेखुदी में मेरी शम्मा बुझ गई

सुरमई आंखों से है खूं बह रहा
आज मैं कितने गजल लिख गई

आग के दामन में तेरा नाम है
जलते दिल की खामोशी ये कह गई

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari