Tag Archives: बेवफाई शायरी

शायरी – तेरी बेवफाई का गिला कैसा

new prev new shayari pic

हम उस मुकाम पर नहीं होते
अजनबी रास्ते जहां नहीं होते

तेरी बेवफाई का गिला कैसा
धोखे दुनिया में कहां नहीं होते

ऐ हुस्न गर तू उदास न होती
तुम्हारे दीवाने वहां नहीं होते

हर टुकड़ा दर्द का कहता है
टूटे आईनों के जुबां नहीं होते

©राजीव सिंह शायरी

Advertisements

शायरी – इन जख्मों को भरने में लगेंगे कई मौसम

love shyari next

इन जख्मों को भरने में लगेंगे कई मौसम
अभी तुमको भूलने में लगेंगे कई मौसम

तेरे इश्क में ये बहार एक पल में उजड़ गई
अब फूलों को खिलने में लगेंगे कई मौसम

सदमे मिले हैं जिनको दुनिया में बेवफाओं से
उनके आंसुओं को गिरने में लगेंगे कई मौसम

मुझे अपनी तो परवाह नहीं मगर तेरी बहुत है
इस फितरत को मिटने में लगेंगे कई मौसम

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जिस दिल पे इश्क का दाग है

love shayari hindi shayari


जिस दिल पे इश्क का दाग है
उस चांद पे न नकाब है

घर-घर में वो ही उदास है
जिस हुस्न पर ये शबाब है

ऐ खुदा, मुझे गिन के बता
मेरे जख्म का क्या हिसाब है

जो बेवफाई से ही जला
ये जहान ऐसा चिराग है


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – कोई तू राह बता कैसे मैं बेवफाई करूँ

prevnext

इस मुहब्बत में तुमको मैं खुशी दे न सकी
कोई तू राह बता कैसे मैं बेवफाई करूँ
दर्द के शोलों को हवा दी हमने तेरे दिल में
इन गुनाहों से तोबा अब मैं कैसे करूँ

खता-ए-इश्क से बस तेरी इबादत की है
ऐसा लगता है तेरी ही शहादत दी है
तू जो रोता है इतना मेरे ख़यालों में
तेरे आँसू को देखने की सज़ा मैं कैसे सहूँ

तेरे हर जख़्म का इल्ज़ाम मेरे सर पे है
तेरे हर दाग का अहसास जिगर पे है
तेरे दामन में चुभे दर्द-ए-नश्तर की कसम
मुझपे जो बीत रही है, उसे मैं कैसे कहूँ

ऐ मेरे इश्क, मेरे हुस्न पे मरनेवाले
ओ दीवाने मेरी याद में जलनेवाले
मेरी राहों में पत्थर की दीवारें हैं
इन दीवारों के अहसानों को मैं कैसे तोड़ूँ

©RajeevSingh

शायरी – वो शख्स बेवफाई का एक जिंदा मिसाल था

love shyari next

न जीतने की जिद ही थी, न हारने का सवाल था
मुझे जिंदगी में हर कदम पर मौत का खयाल था

किसको कहूं और क्या कहूं, फिर सोचता हूं क्यूं कहूं
यहां दोस्त हैं कई मगर, हमराज का अकाल था

खुलते गए मेरे सामने दरवाजों में लगे आईऩे
देखा कि उस मकान में हर अक्स बदहाल था

आंखों में जिनके बस गई दुनिया भर की रौनकें
वो शख्स बेवफाई का एक जिंदा मिसाल था

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari