Tag Archives: मजबूरी शायरी

रिश्तों को निभाने की मजबूरी पुरानी है

shayari latest shayari new

रिश्तों को निभाने की मजबूरी पुरानी है
जिंदगी तो जैसे समझौतों की कहानी है

दुनिया के अंदर तो धोखे का समंदर है
यहां करते हैं वफा, मिलती बदनामी है

यार बनाकर जिसने मेरा खून किया
उसके चेहरे पर शिकन न परेशानी है

जहां अक्ल वालों की महफिल है वहां
जिधर देखिए दिलवालों की नाकामी है

©rajeevsingh             शायरी

shayari green pre shayari green next

Advertisements

शायरी – मुहब्बत की लाखों दुहाई देने वाले

love shyari next

मुहब्बत की लाखों दुहाई देने वाले
देखे हैं कई झूठी गवाही देने वाले

मजबूरी थी इसलिए कर सके न वफा
बस और क्या कहेंगे सफाई देने वाले

दर्द बढ़ रहा है तो और बढ़ जाने दे
दूर हट जा ऐ मुझको दवाई देने वाले

जिंदगी का दीया मुफलिसी में बुझा
तब आए मिलने दियासलाई देने वाले

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तुम हमारे लिए टूटे गुलाब लायी थी

love shayari hindi shayari

मैं जी रहा जिस हाल में, जी लेने दो
इस हालात में अब खुद पे रो लेने दो

बता रहे हो क्यूं अपनी मजबूरियों को
तुम मत जाओ, मुझे ही चले जाने दो

कई सदियों की खता है मुहब्बत भी
हर जनम में तुझे खोने की कसम खाने दो

तुम हमारे लिए टूटे गुलाब लायी थी
वो भी मुरझा गए, उसको बिखर जाने दो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तुम जो मिल जाओ तो सब कुछ मिल जाए

love shayari hindi shayari

चांद से आज भी मेरी बहुत दूरी है
यह जमीं पे रहने की मजबूरी है

दिल लगाने से ये दिल जल जाए सही
इस लगन के बिना जिंदगी अधूरी है

तुम जो मिल जाओ तो सब कुछ मिल जाए
ना मिलो तो तबियत में फकीरी है

नींद खुल जाए अपनी ही मौत से पहले
इसलिए ख्वाबों का टूट जाना जरूरी है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जब मिल गए तुम राह में तो नजर की ये मजबूरी है

love shayari hindi shayari

जब मिल गए तुम राह में तो नजर की ये मजबूरी है
उठ जाए एक पल के लिए फिर झुकना भी जरूरी है

क्या कहूं इस बात पे कि क्यूं उदास हूं इस कदर
जब दर्द ना जवाब दे तो लब सीना भी जरूरी है

बिस्तर पे चाहे लेटिए या पत्थर पे ही सो जाइए
जब थक ही जाए जिस्म तो सो जाना भी जरूरी है

तुम छोड़के कहां जा रहे, सागर में रखे जाम को
क्यूं कह रहे कि कभी-कभी न पीना भी जरूरी है

सागर – पैमाना, प्याला

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दिलकश निगाहों से जरा बचकर दिखा दो तुम

love shayari hindi shayari

मेरी दिलकश निगाहों से जरा बचकर दिखा दो तुम
तुझे गर इश्क है हमसे, करीब आकर दिखा दो तुम

तेरे बाजू की ताकत में हमें इतना यकीं तो हो
कभी पहलू में हमको भी जरा भरकर दिखा दो तुम

मैं कितना सोचती हूं कि कभी दो बात तुमसे हो
तुझे क्या फिक्र है ये ही फकत कहकर दिखा दो तुम

कई उलझन हैं जीवन के जो हमसे ना सुलझ पाए
मेरे दिल की ये मजबूरी करीब आकर मिटा दो तुम

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – ये सफ़र शुरू हुआ था मेरे रोने के साथ

new prev new shayari pic

ये सफर शुरू हुआ था मेरे रोने के साथ
मरते वक्त याद न आया कि हंसे कब थे

जिंदगी गुजर गई उदासियों के जाल में
पता न चला कि इस जाल में फंसे कब थे

तेरी खुशी के लिए समझौता किया वरना
अपनी मजबूरियों के आगे झुके कब थे

देखा तो आखिर में मेरे पास कुछ न मिला
कैसे बताएं कि अपनों से हम लुटे कब थे

 

©rajeev singh shayari