Tag Archives: मयकदा शायरी

शायरी – सांसें हैं जब तक ये आस है बाकी

love shayari hindi shayari

ये दौरे जवानी गुजर जाए शायद
या दौरे जुदाई में मर जाएं शायद

सांसें हैं जब तक ये आस है बाकी
अमावस में चंदा निकल आए शायद

पीते रहे हम मयकदे में जी भर
नशा उल्फत का उतर जाए शायद

लगाते हैं अपनी निगाहों पे पहरे
रातों में वो मेरे घर आएं शायद

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – तेरा सुरूर जबसे निगाहों पे छा गया

love shayari hindi shayari


तेरा सुरूर जबसे निगाहों पे छा गया
जाना था अपने घर तो तेरे दर पे आ गया

बेहोश था जब आया तेरे मयकदे में मैं
तूने थमाया जाम तो मुझे होश आ गया

कितने करम किए हैं मुझपे मेरे खुदा
जिनके सितम से जीने का मजा आ गया

शम्मे को जलता देखकर मैं उसमें जल गया
ये जिस्म खाक था मगर मैं पाक हो गया


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari