Tag Archives: महसूस शायरी

शायरी – जब तुम्हें महसूस करता है दिल

shayari latest shayari new

ख्वाबों की शायरी

तुमको देखकर धड़कता है दिल
तुमको सोचूं तो मचलता है दिल

बंद होती है खुद ब खुद ये आंखें
जब तुम्हें महसूस करता है दिल

ख्वाबों में जब तुम आती हो पास
सीने से तुमको लगा लेता है दिल

एक बार जो कहीं ये फिसल जाए
फिर कहां कभी संभलता है दिल

©rajeevsingh              shayari

shayari green pre shayari green next

Advertisements

शायरी – प्यासी निगाहों का कोई ऐतबार नहीं

love shayari hindi shayari

प्यासी निगाहों का कोई ऐतबार नहीं
कब मचल जाए कोई इख्तियार नहीं

दिल की आग कब भड़के, क्या जानें
कौन इस दुनिया में रहता बेकरार नहीं

इस जवानी में इतनी मुहब्बत है कि
कोई नहीं जो किसी का तलबगार नहीं

महसूस करे जो मेरे इस दर्दे दिल को
दुनिया में आज तक मिला वो प्यार नहीं

इख्तियार- अधिकार

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – महसूस हुआ ये जब दुनिया में वो मिला

love shayari hindi shayari

महसूस हुआ ये जब दुनिया में वो मिला
कांटों की भीड़ में वो एक फूल सा खिला

कैसे बुझेगा जाने शबे-गम का इंतजार
बेसब्र सा एक चिराग फलक पे है जला

क्या खूब है जवानी और आलमे-तन्हाई
है दूर तलक उसकी ही यादों का सिलसिला

मिलता तो है करीब से पर बाकी है कसर
दूरी तो घट गई मगर अब भी है फासला

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – रात देखा तुझे अहसास के झरोखों से

love shayari hindi shayari


रात देखा तुझे अहसास के झरोखों से
तुझे महसूस किया माज़ी की तस्वीरों से

लाल दरिया में डूबा था कलेजा मेरा
मैं बहुत रोया खूने-जिगर की आंखों से

मेरे लम्हें गुजर जाते हैं तुझमें खोकर
बेखुदी ऐसी है कि मैं सोया हूं पहरों से

इंतजारों की ये घड़ियां जाने कब थमे
मौत की बू सी आती है मेरी सांसों से

(माज़ी- अतीत)


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – अब कहां जाएं भला जब तुम हमें ठुकरा गए

love shayari hindi shayari

अपने दर को भूलकर तेरी गली में आ गए
अब कहां जाएं भला जब तुम हमें ठुकरा गए

गम जिसे कहते थे सब, मैं समझ न पाया कभी
जब हमें महसूस हुआ तब गम से मुरझा गए

जो किसी के सामने झुका नहीं इस दुनिया में
लो तुम्हारे इश्क में वो सर भी कटवा गए

अब बेवफा की राह से मेरी अलग एक राह है
इंसानों की बस्ती में हम भीड़ में तन्हा गए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दीवानों का ये पागलपन, ये फितरत आप क्या जाने

love shyari next

मुहब्बत आप क्या जाने, शराफत आप क्या जानें
अरे दुनिया के सौदाई, ये उल्फत आप क्या जानें

दिलों में जल रहे शोले, निगाहों से गिरे झरने
कभी महसूस न हो तो ये कुदरत आप क्या जानें

जिन्हें महबूब की सूरत से बेहतर कुछ नहीं दिखता
दीवानों का ये पागलपन, ये फितरत आप क्या जानें

न दौलत है न जागीरें, न रहने का ठिकाना है
फकीरों की तरह जीने की कीमत आप क्या जानें

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari