Tag Archives: मायूस शायरी

शायरी – वो ही मुझमें समाई है उदासी की तरह

new prev new next

रात खामोश है मेरे दिलबर की तरह
बड़ा सुनसान है मेरे रहगुजर की तरह

मेरे आंसू से शीशे को भी गम होता है
आईना देख रहा है मुझे पत्थर की तरह

मेरी सूरत पे ये जो मायूसी के साये हैं
वो मुझमें समाई है उदास मंजर की तरह

नींद ने आज न आने की कसम खाई है
आज फिर आंख रोएगी समंदर की तरह

©RajeevSingh

Advertisements

शायरी – वफा का आईना जब तेरी नजर से गुजरा

love shayari hindi shayari


इश्क की आबरू हमने बचा लिया अक्सर
चिरागे-दिल से मुकद्दर जला लिया अक्सर

कौन चाहेगा कि खुद मौत को पीते जाएं
दर्द ने सबको शराबी बना दिया अक्सर

वफा का आईना जब तेरी नजर से गुजरा
तूने अपना हसीं चेहरा छुपा लिया अक्सर

करीब रहते हैं जो रातभर इस कलेजे में
चांद वो दिन में हमने बुझा दिया अक्सर

फूल जितने भी मायूस होके टूट चुके थे
उनसे अपना गुलशन सजा लिया अक्सर

गुनाह मैं पूरी तसल्ली से किया करता हूं
तेरा खंजर इस सीने पे चला लिया अक्सर


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – आप क्यों इस प्यार को कहती हैं पहला-पहला

love shayari hindi shayari

उदास रात का मंजर है कितना धुंधला-धुंधला
देखिए इश्क का मौसम है कुछ बदला-बदला

मायूस अंधेरे के साये में जी रहा हूं तन्हा
जाने कब चांद दिखेगा मुझे उजला-उजला

इस जमाने के गुलशन को गौर से देखा
मुझे हर फूल मिला घर में मसला-मसला

हम तो कहते हैं आपसे है जनम का रिश्ता
आप क्यों इस प्यार को कहती हैं पहला-पहला

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मुंह मोड़ गए थे तुम मेरी मायूस सूरत देखकर

love shyari next

ढूंढकर पाएंगे क्या हम दुनिया के घर-बार में
क्या मिलेगा दिल को इस दौलत के बाजार में

बस पूछते हैं सब यही काम क्या करता हूं मैं
कहता हूं दिल पे हाथ रख, मैं हूं इसके बेगार में

मुंह मोड़ गए थे तुम मेरी मायूस सूरत देखकर
तूने भी ये देखा नहीं कि क्या है दिले-बीमार में

तन्हाइयों की रात में हम सो नहीं पाए कभी
बस छत पे टहलते रहे सोए हुए संसार में

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari