Tag Archives: मुफलिसी शायरी

शायरी – मुहब्बत की लाखों दुहाई देने वाले

love shyari next

मुहब्बत की लाखों दुहाई देने वाले
देखे हैं कई झूठी गवाही देने वाले

मजबूरी थी इसलिए कर सके न वफा
बस और क्या कहेंगे सफाई देने वाले

दर्द बढ़ रहा है तो और बढ़ जाने दे
दूर हट जा ऐ मुझको दवाई देने वाले

जिंदगी का दीया मुफलिसी में बुझा
तब आए मिलने दियासलाई देने वाले

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – जिस रहगुजर पे चले दूर तक तेरी तलाश में

love shayari hindi shayari

दर्द ए मुहब्बत के अफसानों में खोये जा रहा हूं
जानेजां तुझे अपनी गजलों में पिरोये जा रहा हूं

मुफलिसी के आसमान में चांद तो नहीं निकलता
दिल के अंधेरों में सितारों को जलाए जा रहा हूं

दर्द की नमी को हमने आंखों में बसा लिया है
गमों की दरिया को चेहरे पे बहाए जा रहा हूं

जिस रहगुजर पे चले दूर तक तेरी तलाश में
उसी को अब अपना हमसफर बनाए जा रहा हूं

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – सबकी तरह बेदर्द थे हम जब इश्क से बेगाने थे

love shayari hindi shayari

मैं परिंदा भी नहीं और हूं आस्मा भी नहीं
लेकिन मेरा दिल इन दोनों से कम भी नहीं

मेरा सबकुछ लुट गया, मैं वो खुशनसीब हूं
आज दुनिया में कुछ खोने का गम भी नहीं

मुफलिसी मेरा खुदा है, फाकामस्ती इबादत है
जिंदगी के बारे में अब कोई वहम भी नहीं

सबकी तरह बेदर्द थे हम जब इश्क से बेगाने थे
जिसने दर्दे-दिल दिया, अब वो सनम भी नहीं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari