Tag Archives: मुसीबत शायरी

गजल – मोहब्बत के फसानों का यही अंजाम होता है

shayari latest shayari new

अपनों से धोखा शायरी

मोहब्बत के फसानों का यही अंजाम होता है
इसमें जो मर मिट जाए, उसी का नाम होता है

खुशी के चंद कतरों से जो दिल को बहला ले
फिर गम को भी अपनाए, वही इंसान होता है

अपना बनकर जिसने दिया जिंदगीभर धोखा
उसका भी जो भला सोचे वही नादान होता है

दुनिया में जाने कब कोई भी काम आ जाए
मुसीबत में जो साथ आए वही भगवान होता है

Advertisements

शायरी – किसी के दर्द पे अक्सर लोगों को हंसते देखा है

new prev new shayari pic

किसी के दर्द पे अक्सर लोगों को हंसते देखा है
जब अपने पे आती है तो उसी को रोते देखा है

अपनों की मुसीबत में अपने भी भाग जाते हैं
अपनों को अपनों से ही दामन छुड़ाते देखा है

दौलत के सिवा दुनिया का रहनुमा कोई नहीं
फरिश्तों को भी राहों पर भीख मांगते देखा है

जिस बदकिस्मत को सब पत्थर मारा करते थे
किस्मत पलटी तो उसी पे फूल फेंकते देखा है

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – बहुत मुसीबतें थी इश्क की राह में

new prev new shayari pic

न तेरे ख्वाब होते, न हम खाक होते
न ही दिल में दर्द भरे जज्बात होते

बहुत मुसीबतें थी इश्क की राह में
आखिर कब तक तुम मेरे साथ होते

तेरी खुशियों की बड़ी ख्वाहिश थी
वरना क्यों हम सूरत से उदास होते

जीने की जद्दोजहद आसान हो जाती
सोचता हूं, काश तुम मेरे पास होते

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – मैंने कुछ इस तरह से खुद को संभाला है

love shayari hindi shayari

मैंने कुछ इस तरह से खुद को संभाला है
तुझे भुलाने को दुनिया का भरम पाला है

अब किसी से मुहब्बत मैं नहीं कर पाता
इसी सांचे में एक बेवफा ने मुझे ढाला है

कौन मेरे सीने में उठा दर्द मिटा पाएगा
जब ये दिल ही इस जख्म का रखवाला है

कोई कयामत मुझे कभी डरा नहीं पाती
खुदा ने इस कदर मुसीबत में मुझे डाला है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जब तलक दिल किसी का नहीं टूटेगा

love shayari hindi shayari

जब तलक दिल किसी का नहीं टूटेगा
तब तलक वो जमाने में नहीं संभलेगा

दोस्त का खूब भरोसा था, बेवफा निकला
क्या खबर थी कि मुसीबत में वो छोड़ेगा

मैं अंधेरे में था तो रोशनी नहीं आई
क्या मेरे खातिर मेरा चांद भी न आएगा

अक्स से दूर कहीं जिस्म मेरा तन्हा है
सामने आओगी, मुझे आईना मिल जाएगा

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – क्या मिला है मुझे इस दिल के आईने के सिवा

love shayari hindi shayari

क्या मिला है मुझे इस दिल के आईने के सिवा
क्या हुआ है मेरा गिर-गिर के टूटने के सिवा

देर हो जाएगी तुमको भी घर जाने तलक
तुमने भी सीखा है क्या मुसीबत उठाने के सिवा

दर्द कितना भी जहर उगले आंखों से मगर
हमको कुछ आया नहीं जख्म पे रोने के सिवा

आप आ ही गए आशिक का जनाजा ढोने
आप अपने हैं, क्या देंगे हमें कांधे के सिवा

©RajeevSingh #love shayari