Tag Archives: मुसीबत शायरी

गजल – मोहब्बत के फसानों का यही अंजाम होता है

shayari latest shayari new

अपनों से धोखा शायरी

मोहब्बत के फसानों का यही अंजाम होता है
इसमें जो मर मिट जाए, उसी का नाम होता है

खुशी के चंद कतरों से जो दिल को बहला ले
फिर गम को भी अपनाए, वही इंसान होता है

अपना बनकर जिसने दिया जिंदगीभर धोखा
उसका भी जो भला सोचे वही नादान होता है

दुनिया में जाने कब कोई भी काम आ जाए
मुसीबत में जो साथ आए वही भगवान होता है

Advertisements

शायरी – किसी के दर्द पे अक्सर लोगों को हंसते देखा है

new prev new shayari pic

किसी के दर्द पे अक्सर लोगों को हंसते देखा है
जब अपने पे आती है तो उसी को रोते देखा है

अपनों की मुसीबत में अपने भी भाग जाते हैं
अपनों को अपनों से ही दामन छुड़ाते देखा है

दौलत के सिवा दुनिया का रहनुमा कोई नहीं
फरिश्तों को भी राहों पर भीख मांगते देखा है

जिस बदकिस्मत को सब पत्थर मारा करते थे
किस्मत पलटी तो उसी पे फूल फेंकते देखा है

©राजीव सिंह शायरी