Tag Archives: मेरे जज़्बात

शायरी – चलेंगे साथ वफा के, तूम चलो ना चलो

love shyari next

जला चराग कि कब तक न जाने रात रहे
रौशनी में कम से कम ये साया साथ रहे

वजूद रह गया मुझमें जगा हुआ हरदम
नींद न आई तो बस मौत की फरियाद रहे

चलेंगे साथ वफा के, तूम चलो ना चलो
इसी तरह से सलामत मेरे जज़्बात रहे

किसी के साथ मरासिम, कोई मेरा दुश्मन
हम किसी भी रिश्ते में न कामयाब रहे

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – राज ए मुहब्बत इज़हार के काबिल नहीं होता

prevnext

वक्त आने दो हकीकत भी बयां कर दूंगा
क्या छुपाना है तुमसे ओ मेरे दिलबर


अभी मसरूफ हो तुम अपनी ही उलझन में
मेरे जज़्बात को कहीं तुम न समझ लो पत्थर


राज-ए-मुहब्बत इज़हार के काबिल नहीं होता
दर्द-ए-खामोशी पढ़ लो तुम मेरी सूरत देखकर


इश्क की राह में लाकर तुझे परेशां क्यूं करूं
तेरी खुशी के लिए हम रो रहे हैं कहीं छुपकर


कैसे इज़हार करें, बड़ा डर लगता है मुझको
कहीं ठुकरा न दो तुम नादां की हरकत जानकर

©RajeevSingh