Tag Archives: मैयत शायरी

शायरी – ओ मुझे तन्हा छोड़ के जाने वाले, आखिरी दास्तां सुनते जाओ

love shayari hindi shayari

ओ तन्हा छोड़ के जाने वाले आखिरी दास्तां सुनते जाओ
तू खुदा तो नहीं था मगर उम्र गुजरी तेरी इबादत करते

इस दिल को समझाऊंगी कि तुमको याद न किया करे कभी
ऐ दिल, फूल गले ना लगाए तो कांटों को नहीं चूमा करते

आजकल में कहीं मिल जाओ तो तुम बस इतना ही करते
मेरी टूटी-उलझी राहों को सीधा कर गांठ लगाया करते

अगर सौ बार जनम लूं धरती पे बस यही ख्वाहिश है मेरी
काश! हर जनम में तुम ही मेरी मैयत को जरा कांधा देते

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – ताउम्र तेरे इश्क में मरने की दुआ दे

love shyari next

आके तू मेरी मौत पे एक फूल चढ़ा दे
ताउम्र तेरे इश्क में मरने की दुआ दे

उंगली को न तू रोक अब, छूने दे मेरे नब्ज़
तू अपनी धड़कनें तो मेरे रग को सुना दे

ले चल मेरी मैयत को तन्हाई में कहीं
और हुस्न की इस आग से ये लाश जला दे

मेरी खाक को आँचल में ही बाँध लेना तुम
इस पोटली को तू किसी दरिया में बहा दे

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – इतने तन्हा हो चुके हैं इस दुनिया में

love shayari hindi shayari

आज दुख है, कल भी दुख का दिन होगा
इश्क में फकत ऐसा ही मौसम होगा

खूं ये जलता ही रहेगा मरते दम तक
दो आंखों में बहता हुआ तेरा गम होगा

इतने तन्हा हो चुके हैं इस दुनिया में
मेरी मैयत पे शायद ही मातम होगा

दर्द ही दर्द हर तरफ हैं डसने के लिए
क्या खबर थी कि ये दिल बेरहम होगा

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – वो बेवफा भी क्या जाने किसी का दर्दो-गम

prevnext

काश! कि मैं जिंदा रहता मरने के बाद
अपनी मैयत पे जश्न मनाने के लिए

मैंने अपनों को ये वसीयत दे रखी है
कि आप आएं मुझे कांधा देने के लिए

रोने की बात उठी तो सब उठ गए
हम बैठे रहे बज्म-ए-मैयत में रोने के लिए

वो बेवफा भी क्या जाने किसी का दर्दो-गम
जो आती है इश्क में जहर देने के लिए

©RajeevSingh

 

शायरी – मुझपे कयामत ढाती है तेरी गजल सी सूरत

prevnext

तू मेरे इश्क का बुरा अंजाम न कर
दिल रो दे मेरा ऐसा कोई काम न कर

बल खाने दे अपनी जुल्फों को हवाओं में
जूड़े बांधकर तू मौसम को परेशां न कर

मुझपे कयामत ढाती है तेरी गजल सी सूरत
मेरे दिल की मैयत का इंतजाम न कर

ख्वाब ये टूट न जाए इस जनम में मेरा
इस बस्ती में मेरा इश्क सरेआम न कर

©RajeevSingh