Tag Archives: रियल लाइफ की लव स्टोरी

वो कहती है कि तुम मुझे टाइम नहीं देते इसलिए रिश्ता तोड़ रही हूं – तरूण की लव स्टोरी

मेरा नाम तरूण है। मैं राजस्थान से हूं। एफबी पर छह साल पहले लखनऊ की एक लड़की से मेरी दोस्ती हुई। हम लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रहे और 6 सालों में बस 4 बार एक दूसरे से मिल पाए। हमारी बातें फोन से होती थी। मैं उसे प्यार करने लगा था लेकिन पूछने से डरता था। एक दिन मैंने हिम्मत करके पूछ लिया तो उसने कहा कि एक लड़का है जिसको वो लव करती है। ये सुनकर मेरा दिल टूट गया लेकिन फिर भी मैं उसका दोस्त बने रहना चाहता था।

कुछ दिन बाद पता नहीं क्या हुआ कि उन दोनों की लड़ाई हो गई। मैं दोनों को समझाता था कि ये ठीक नहीं है, आप लोग अलग मत हो लेकिन वो हो गए। वो बहुत टूट चुकी थी तो मैंने उसे संभाला था। ऐसे ही दिन बीतते रहे। फिर मैंने उसको प्रपोज किया था डरते डरते तो उसने एक्सेप्ट भी कर लिया। वो बोलती कि वो भी मुझे बहुत प्यार करने लगी है।

tarun real love story1

मैं बहुत खुश था। हम बहुत प्यार करते थे एक दूसरे से को। मैं आपको बता दूं कि मैं राजस्थान में रहता हूं और वो लखनऊ में रहती है। हम इन छह सालों में सिर्फ चार बार मिले हैं। हमारे बीच लड़ाई भी होती थी लेकिन मना लेते थे हम एक दूसरे को। हम दोनों ही शॉर्ट टेंपर्ड हैं और जल्दी गुस्सा होते हैं। जब लड़ाई होती थी तो चार पांच दिन बात नहीं करते थे।

2017 के पहले महीने से ही उसका बिहेव चेंज होने लगा। उसको कई फर्क नहीं पड़ता। मैं गुस्सा होऊं या कुछ भी बोलूं तो जवाब देती है कि मुझे बात नहीं करनी, मुझे अभी कहीं जाना है। हर बात में उसे कहीं जाना होता है। मैं उसे बहुत प्यार करता हूं तो उससे दूर नहीं रह पाता था। उसको बहुत समझाता कि इतना गुस्सा मत हुआ करो, ज्यादा गुस्सा ठीक नहीं है लेकिन वो नहीं मानती।

मुझे दुख इस बात का भी है कि उसने कभी हमारी रिलेशनशिप को लेकर खुशी नहीं जताई कि हां मैं तुम्हारे साथ बहुत खुश हूं। अभी इसी साल मार्च में हमारी लड़ाई हुई, वजह ये थी कि मैं दिन में बात नहीं कर पाता। मैं जॉब करता हूं तो रात को ही समय निकाल पाता हूं। वो गुस्सा हो गई और जून से हमारी बात बंद हो गई। मैं उसे वाट्सएप और फेसबुक पर फॉलो करता रहता था। वो रात को दो तीन बजे तक ऑनलाइन रहती थी लेकिन मुझसे कोई बात नहीं करती थी तो बुरा लगता था।

मैं उस पर खुद से ज्यादा ट्रस्ट करता हूं, ये नहीं है कि उस पर शक है मुझे। इस साल अगस्त में मेरा बर्थडे आया तो मैंने सोचा कि शायद मुझे विश करे। मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसको मैसेज और कॉल किया लेकिन उधर से कोई रिस्पॉन्स नहीं। मैंने उससे बहुत रिक्वेस्ट किया कि मुझे बात कर लो तब उसने बात की और कहा कि अब हमारे बीच कुछ नहीं है, तुम आगे मूव ऑन करो।

मैं ये सुनकर पागल सा हो गया। मैंने बहुत मिन्नतें कीं, बहुत रोया लेकिन वो नहीं मानी। मैं अभी भी उसे बहुत प्यार करता हूं, मैं उससे शादी करना चाहता था लेकिन उसने कहा था कि तुम्हारी अगर सरकारी नौकरी लगेगी तब ही कुछ हो सकता है नहीं तो मेरी फैमिली राजी नहीं होगी, जबकि हमारी कास्ट एक ही है।

मेरे बहुत रिक्वेस्ट करने के बाद उसने कहा कि हम दोस्त बने रह सकते हैं। मैं राजी हो गया लेकिन मैं उसे बहुत प्यार करता था इसलिए ये भी करने को तैयार हो गया। अभी कुछ दिन पहले उसने बताया कि वो एक लड़के से रेस्टूरेंट में मिली और फ्रेंडशिप होने के बाद उसे उससे प्यार हो गया। उसने कहा कि मैं उसे प्यार करती हूं।

उसने मेरे साथ ऐसा किया जबकि मैं इतने सालों में उसके अलावा दूसरी लड़की के बारे में सोचा तक नहीं। अब आप ही बताओ कि क्या 6 साल का प्यार इनसान कुछ ही दिन में भूल सकता है। मैं उसको बहुत प्यार करता था, प्यार करता हूं, प्यार करता हूं और करता रहूंगा लेकिन मुझसे अब ये फ्रेंडशिप का खेल नहीं खेला जा रहा। मैं बहुत दुखी रहता हूं।

उसकी हमेशा यही शिकायत रही कि तुम मुझे टाइम नहीं देते ही नहीं, मैं मांगती हूं लेकिन तुम्हारे पास समय ही नहीं है। अब आप लोग ही बताइए इसका ये मतलब तो नहीं कि हम किसी और के पास चले जाएं। क्या यही प्यार है जिसके लिए मैंने इतने सपने देखे थे।

Advertisements

मैं लवर के साथ शादी कर सकती हूं लेकिन भाई का सहारा कौन बनेगा – कविता की लव स्टोरी

मेरा नाम कविता है। मैं रायपुर में रहती हूं। मैं एक लड़के से प्यार करती हूं और वो मुझसे बहुत प्यार करता है। हमारे रिश्ते को सात साल हो गए हैं। वो बहुत अच्छा लड़का है लेकिन वो दूसरे कास्ट का है इसलिए हमारी फैमिली वाले इस रिश्ते के लिए राजी नहीं हैं और हम भागकर शादी नहीं कर सकते क्योंकि इससे हमारी फैमिली की बदनामी होगी।

हम बार बार मिलते हैं फिर घर में पता चलता है तो हम कुछ दिन के लिए अलग हो जाते हैं। ये सिलसिला सात सालों से चलता आ रहा है लेकिन इतना होने के बाद भी हमारे मम्मी पापा हमसे बहुत प्यार करते हैं। वे बिल्कुल भी नाराज नहीं होते। थोड़ी देर के लिए होते हैं फिर नॉर्मल हो जाते हैं।

kavita love story

मेरा एक भाई है जो हैंडिकैप है। वो चल नहीं सकता। मम्मी पापा के बाद मैं ही उसका सहारा हूं। हमारी फैमिली के लोग मेरे लिए रिश्ता खोज रहे हैं। अब मैं समझ नहीं पा रही हूं कि क्या करूं क्योंकि मैं राजपूत हूं और वो मेरा लवर साहू कास्ट का है। मेरे मम्मी पापा पुराने ख्यालों वाले हैं। दूसरे कास्ट के लड़के से शादी करना पाप समझते हैं।

मैं अगर उस लड़के से शादी करती हूं जिससे मैं प्यार करती हूं तो मेरी फैमिली वाले हमसे रिश्ता तोड़ देंगे और फिर मेरा भाई का सहारा कौन बनेगा? मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा है कि मैं क्या करूं..मम्मी पापा के पसंद से शादी करूं या जिससे मैं प्यार करती हूं, उससे शादी करूं…कोई सही रास्ता दिखाइए…