Tag Archives: रुसवा शायरी

shayari – नहीं थी खबर कि इस तरह रुसवा करोगे हमें

shayari latest shayari new

मोहब्बत कर बैठी शायरी इमेज

नहीं थी खबर कि इस तरह रुसवा करोगे हमें
बस्ती में जाकर सबसे तुम बेवफा कहोगे हमें

एक ऐतबार पर खा चुकी अब तक इतने धोखे
देखती हूं कि कब तक ठोकरें लगाओगे हमें

मेरी जिंदगी में ये कैसी आग लगा गए हो तुम
खाक हो चुकी हूं और कितना जलाओगे हमें

दिल नादान था जो तुमसे मोहब्बत कर बैठी
कहां सोचा कि आखिर में ये सिला दोगे हमें

©rajeevsingh                                    shayari

shayari green pre shayari green next

Advertisements

शायरी – आहें दिल की आरजू हैं, दर्द ही तमन्ना है

love shyari next

आहें दिल की आरजू हैं, दर्द ही तमन्ना है
इश्क ही गुनाह मेरा, फिर सजा तो सहना है

मुश्किलों के इस दौर में दूर है मेरी दिलरुबा
ऐसी तन्हाई में मेरे मुश्किलों को बढ़ना है

तेरी आंखों के दरवाजे खुलते हैं बस मेरे लिए
लेकिन तेरे आशियां में गैरों को ही रहना है

लड़ जाऊंगा मैं दुनिया से लेकिन तू रुसवा होगी
दाग न तुझपे लगने देंगे, खुद से ही बस लड़ना है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – हम रुसवा हुए तेरे नाम से, मुहब्बत में ये सिला तो दिया

prevnext

हम रुसवा हुए तेरे नाम से, मुहब्बत में ये सिला तो दिया
जुबां पे वफाई बहुत थी तेरी, जुबां से सही, कुछ तो दिया

बहारों के सीने में थी जो जलन, चरागों से रोशन था जो चमन
उजालों से तूने मुंह फेरकर, अंधेरा ही सही, कुछ तो दिया

तेरी उल्फत में हम रोये बहुत, हंसे भी तो आंसू आ ही गए
तूने मेरा दामन छोड़कर, दर्द ही सही, कुछ तो दिया

मेरे मुकद्दर में लिखी न थी तुम, तुमको खतावार किस मुंह से कहूं
मेरे दिल को तूने यूं तोड़कर, तन्हाई ही सही, कुछ तो दिया

जमाने के दिल में जज़्बात नहीं, हम भी सनम कुछ वैसे ही थे
तुमने मुझे जज़्बाती बनाकर, आंसू ही सही, कुछ तो दिया

©RajeevSingh