Tag Archives: रेत शायरी

शायरी – जिसने न जाना किसी से कभी वफा करना

love shayari hindi shayari

जिंदगी जब भी दर्द की पुकार सुनती है
मेरी नजर तेरे आने का इंतजार करती है

मुहब्बत के मौसम ने दिया है ये सिला
रेत में रोज ही बूंदों की बौछार गिरती है

जिसने न जाना किसी से कभी वफा करना
उसे आशिक न मिले तो बीमार पड़ती है

जिस शहर, जिस गली से गुजरता हूं मैं
दुनिया अक्सर तेरी चर्चा बेशुमार करती है

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements

शायरी – तेरा दर्द आंसू में गिर पड़ा, पर मैं कभी रो न सका

new prev new shayari pic

ले चला तूफान ए इश्क, जाने कहां, किस देस में
भटका तेरी तलाश में आवारा दिल किस देस में

तेरा दर्द आंसू में गिर पड़ा पर मैं कभी रो न सका
तू नदी में जाके बुझ गई, मैं जलता ही रहा रेत में

जो मिला करे जुदा न हो, जो जुदा हो याद न आए
मुमकिन नहीं ये जहान में, समझा था बड़ी देर में

मैं फूल से जुड़ने को उसकी डाल का कांटा बना
वो फूल मुझे चुभती रही, रोया बहुत इस फेर में

©राजीव सिंह शायरी