Tag Archives: वस्ल शायरी

शायरी – हद से ज्यादा ये दर्द जब बढ़ जाएगा

love shayari hindi shayari

हम वस्ल के वहम में जीये जाएंगे
हिज्र के दर्द अलम से पीये जाएंगे

तेरी यादों की रातों में रोएंगे हम
इश्क में ये सितम भी सहे जाएँगे

हद से ज्यादा ये दर्द जब बढ़ जाएगा
हम खामोशी को तोड़ गजल गाएंगे

जब फुरकत के सदमे मिले हैं हमें
तुमसे मिलने की दुआ बस मांगेंगे

वस्ल- मिलन
फुरकत- विरह
हिज्र – जुदाई

अलम – वेदना, कष्ट

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – अंजामे-इश्क ये हुआ, हम-तुम हैं जुदा-जुदा

love shyari next

अंजामे-इश्क ये हुआ, हम-तुम हैं जुदा-जुदा
हम भी खो गए दर्द में, तुम भी हो गए गुमशुदा

चार दिन का वस्ल था, हिज्र के हैं सौ बरस
जी रहे हैं किसी तरह, करके हम खुदा-खुदा

इश्क की इस आग में सब कुछ मेरा जल गया
सांसों में बहते धुएं से जिंदगी भर दम घुटा

दर्द के कातिल हाथों में टूटे सपनों का खंजर
रात के काले साये में रूह जख्मी हो चुका

अंजामे-इश्क- प्यार का अंजाम
हिज्र- जुदाई
वस्ल- मिलन

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari