Tag Archives: शम्मा शायरी

शायरी – दर्द की बज रही है शहनाइयां

love shayari hindi shayari


निगाहों की शाम आ ही गई
जुदाई की रात आ ही गई

दर्द की बज रही है शहनाइयां
यादों की बारात आ ही गई

जलती है शम्मा हौले-हौले
मीठी सी आग आ ही गई

सन्नाटे में तो कुछ आता नहीं
करवटों की आवाज आ ही गई


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – एक गुमसुम सी फूल के खातिर मैं कांटों पे सोया

love shayari hindi shayari

प्यासी निगाहें बरस गई, बरसी निगाहें तरस गई
सावन की आई बारिश में कितनी नदियां टूट गई

मेरे सागर में एक कश्ती तूफानों से डरती थी
सैलाबों से लड़ते-लड़ते वो भी एक दिन डूब गई

एक गुमसुम सी फूल के खातिर मैं कांटों पे सोया
लेकिन वो खुद से रूठी थी, हमसे भी रूठ गई

बाली उमर में बुझता चिरागां शम्मे को दर-दर ढूंढे
वो बुझा उसकी गली में, जब वो शम्मा बुझ गई

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मेरे हमराह तेरी राह के हम मुसाफिर हैं

love shayari hindi shayari

खंजर मेरे दिल को खून से तर कर दे
ऐ पत्थर मेरी आंखों में तू पानी भर दे

तू सूरज है, चंदा है, शम्मा भी है
मेरे अंधियारे जीवन में रोशनी भर दे

मेरे हमराह तेरी राह के हम मुसाफिर हैं
तू मेरे संग चले, ऐसा मंजर कर दे

रात बीते हैं जैसे गुजरते हैं सितम
तू कभी आके अमावस को पूनम कर दे

©RajeevSingh # love shayari

 

शायरी – जगती रातों में तू मेरे अंदर कहीं पे रहती है

love shayarihindi shayari

महकी सांसें, दुखता सीना, रोती आंखें कहती है
जगती रातों में तू मेरे अंदर कहीं पे रहती है

दरिया के आंसू में डूबा एक चिराग बुझ गया
लेकिन दिल में डूबके भी तेरी शम्मा जलती है

देखकर मैं रूक गया था, दूर तू जाती रही
ऐसा अक्सर ही होता है जब राहों पे तू मिलती है

लिखते-लिखते सो गया था आज भी तुमपे गजल
पर मेरे ख्वाबों में आकर ये गजल तू गाती है

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – ऐ हुस्न एक शम्मा जला दे जरा

love shayari hindi shayari

है चारों तरफ मेरे दिल में अंधेरा
हुस्न एक शम्मा जला दे जरा

चिट्ठी लिखूंगा उन्हें अब लहू से
ओ आंखें अब खूं तो बहा दे जरा

अब दिन-रात तेरे खयालों में हैं
इसे अब हकीकत बना दे जरा

गैरों के ताने जब दिल में चुभे
दिले-नादां तू मुस्कुरा दे जरा

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – कोई इल्जाम न लेगी वो अपने सर पे

love shayari hindi shayari


कोई इल्जाम न लेगी वो अपने सर पे
सांस टूटी है मुसाफिर की जिसके दर पे

जो मरासिम पे मरने की वफा रखते थे
जल गए वो ही शम्मा में आहें भर के

महफिलों में जो दिखाती है अपने जलवे
एक तन्हा को ढूंढती है हुस्न के दम पे

उंगलियां आज भी बोझिल हैं गुनाहों से
तूने थामा था किसी दिन इसे आगे बढ़ के

मरासिम – संबंध


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – अभी महफूज हूँ डूबी हुई तेरी यादों में

love shayari hindi shayari

अपनी दुनिया से न निकालो, मैं मर जाऊंगी
तुम मुझे छोड़ न जाओ, मैं किधर जाऊंगी

अभी महफूज हूं डूबी हुई तेरी यादों में
यूं ही रहना मेरे साथ, मैं जिधर जाऊंगी

क्यूं अंधेरे में बैठे हो तन्हा दिल में
जरा शम्मा तो जलाओ, मैं नजर आऊंगी

सात फेरे तो नहीं, सदियों के फेरे हैं लिए
जाने कब संग तेरे प्रेम-नगर जाऊंगी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तेरा सुरूर जबसे निगाहों पे छा गया

love shayari hindi shayari


तेरा सुरूर जबसे निगाहों पे छा गया
जाना था अपने घर तो तेरे दर पे आ गया

बेहोश था जब आया तेरे मयकदे में मैं
तूने थमाया जाम तो मुझे होश आ गया

कितने करम किए हैं मुझपे मेरे खुदा
जिनके सितम से जीने का मजा आ गया

शम्मे को जलता देखकर मैं उसमें जल गया
ये जिस्म खाक था मगर मैं पाक हो गया


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तेरी आंखों में भी हमने आंसू ही तो देखे थे

love shayari hindi shayari

बंद आंखों में ये आंसू जलते गए, जलते गए
नींद में भी दर्दे राह पे चलते गए, चलते गए

आंसुओं से रंग दी हमने अपनी कितनी ही गजलें
रो-रो के ही दिल की बातें लिखते गए, लिखते गए

लोगों ने शम्मे जलाए जाने किन-किन चीजों से
हम दो शम्मे में आंसुओं को भरते गए, भरते गए

तेरी आंखों में भी हमने आंसू ही तो देखे थे
इसलिए तो तुमसे मुहब्बत करते गए, करते गए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – वो दूर तलक मेरी निगाहों में बसा है

love shayari hindi shayari

मैं शम्मा बन जलूंगी, वो मजार है कहां
उसके गले लगूंगी, वो बेजार है कहां

मेरे ही तसव्वुर में वो आता है बार-बार
उसकी तलाश में मेरी आंखें हैं परेशां

वो दूर तलक मेरी निगाहों में बसा है
तस्वीर है ये जिसकी, वो दिलदार है कहां

कोई खबर नहीं है, उसका कोई पता नहीं
कैसे मिलेगा मुझको मुसाफिर का आशियां

©RajeevSingh #love shayari