Tag Archives: शेर व शायरी

शायरी – हमें तो तन्हा ही जीते जाना है, तेरे साथ तो सारा जमाना है

love shyari next

हमें तो तन्हा ही जीते जाना है
तेरे साथ तो सारा जमाना है

मेरी कोई फिक्र क्यों करोगी तुम
जब ये कायनात तेरा दीवाना है

किसकी तलाश में भटके हो दिल
बेवफाओं का कहां ठिकाना है

तुझे याद करते दम टूट जाना है
हर आशिक का यही फसाना है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – वो कब तक समझेगी, ये बड़ा सवाल है

love shyari next

मुहब्बत का हर अहसास बेमिसाल है
ये तो उस हसीन महबूब का कमाल है

हम तो उनसे बेइंतहा इश्क करते हैं
वो कब तक समझेगी, ये बड़ा सवाल है

वो हमें याद करे ना करे एक पल भी
मेरी आंखों में तो बस उनका खयाल है

उनसे बस हमें थोड़ा सा प्यार चाहिए
जिसके लिए मेरा दिल बहुत बेहाल है

©RajeevSingh # lov shayari

शायरी – रास्तों में मिलते ही कतराते हैं लोग

love shyari next

मुझे देखकर ही डर जाते हैं लोग
रास्तों में मिलते ही कतराते हैं लोग

मेरी यारी जब किसी से बढ़ती है
पीठ पीछे उसे खूब समझाते हैं लोग

अगर भूल से कोई तारीफ करे मेरी
उस बात को वहीं दफनाते हैं लोग

मेरा दुश्मन जो कहीं पे मिल जाए
उसे तहे दिल से गले लगाते हैं लोग

सच कह देता हूं किसी के मुंह पर
मेरी इसी फितरत से घबड़ाते हैं लोग

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – हम रोये तो ये जमाना समझ में आया

love shyari next

कभी अपनों ने, कभी दूसरों ने रुलाया
हम रोये तो ये जमाना समझ में आया

अपने मतलब के लिए इस्तेमाल करते हैं
कई इंसानों में हमने इस हुनर को पाया

प्यार में डूबी हुई अच्छी अच्छी बातें करके
वो न जाने कितनों का कत्ल कर आया

मगर कुछ लोग यहां ऐसे भी मिल जाते हैं
जिनको दूसरों पर अपनी जान लुटाते पाया

©RajeevSingh # muhabbat shayari

शायरी – इश्क में ये कैसी कशमकश है दिल में

love shyari next

तुम्हारे पास आने से मैं घबराता हूं
तुमसे दूर जाने से मैं डर जाता हूं

इश्क में ये कैसी कशमकश है दिल में
कि जुबां से कहने से मैं शरमाता हूं

तुम बेफिक्र सी अक्सर गुजर जाती हो
और मैं गमगीन होकर चला जाता हूं

तुमसे ‘हां’ की उम्मीद से मुसकाता हूं
मगर तेरी ‘ना’ सोचकर सिहर जाता हूं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – यूं ही मरता है आशिक इस दुनिया में

love shyari next

दो कदम साथ चले तुम इस दुनिया में
मुद्दतों दर्द सहे हम इस दुनिया में

हमने आंचल जिसे समझा, कफन निकला
कितने धोखे हैं या रब इस दुनिया में

जुर्म ये तेरा नहीं है ओ जानेजां मेरी
मेरी किस्मत ही है मुजरिम इस दुनिया में

मौत ख्वाबों में भी आकर नहीं आती है
यूं ही मरता है आशिक इस दुनिया में

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – वो बेवफा भी क्या जाने किसी का दर्दो-गम

prevnext

काश! कि मैं जिंदा रहता मरने के बाद
अपनी मैयत पे जश्न मनाने के लिए

मैंने अपनों को ये वसीयत दे रखी है
कि आप आएं मुझे कांधा देने के लिए

रोने की बात उठी तो सब उठ गए
हम बैठे रहे बज्म-ए-मैयत में रोने के लिए

वो बेवफा भी क्या जाने किसी का दर्दो-गम
जो आती है इश्क में जहर देने के लिए

©RajeevSingh

 

वो शायरी है, गजल है या फसाना है

prevnext

दर्द की आग न हो तो मैं जी न पाऊंगा
अश्क की आब न हो तो मैं जल जाऊंगा

वो शायरी है, गजल है या फसाना है
जाने कब तक मैं उसको समझ पाऊंगा

धुंध सी शाम है बरसों से मेरे जीवन में
रात कब होगी, कब चांद को छू पाऊंगा

ऐसा लगता है कि न आएगी पास कभी
यूं ही तन्हाई में घुटते हुए मर जाऊंगा

©RajeevSingh

शायरी – दिल की जितनी भी परेशानी है

prevnext

दिल की जितनी भी परेशानी है
सब तेरी ही मेहरबानी है

आरजुओं का एक समंदर है
और आंखों में कितना पानी है

फूल भी और चुभन भी है
हुस्न की भी क्या जवानी है

चांदनी रात है सुलगती हुई
आज दिल में आग तो लगानी है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari