Tag Archives: सजदा शायरी

शायरी – क्या मांगू मैं खुदा से जब मेरे मन को तू मिल गया

love shayari hindi shayari

ना इश्क की फरियाद हो, ये सदा जुबां को याद हो
तुम दिल में यूं समा गए, अब दूर हो ना पास हो

क्या मांगू मैं खुदा से जब, मेरे मन को तू मिल गया
अब तेरे सजदे में सनम, मुझमें तेरी आवाज हो

किसको खबर तू कौन है, मुझे क्या खबर मैं कौन हूं
रहूं अजनबी खुद के लिए, तुझे जानने की प्यास हो

तेरे दर्द से भरी हुई, मैं राहों पे भटकी हुई
मुझे ले के चल उस जगह, जहां सिर्फ तेरा साथ हो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तुमसे वफा की आस भी रखूं भी मैं किस राह पर

love shyari next

तेरी दिल्लगी भी इश्क में मेरे दिल का गुल खिलाएगी
तेरी बेवफाई भी मुझसे एक हसीन गजल लिखवाएगी

तुमसे वफा की आस भी रखूं भी मैं किस राह पर
मालूम है तू एक दिन बड़ी दूर निकल जाएगी

सज़दे की वो जमीं है, जहां बैठकर मैं रोता हूं
तेरे दर्द के इन अश्कों में मेरी मिट्टी भी गल जाएगी

बरसों बरस भी धूप है, सूरज ही जिसका रूप है
इस जिंदगी की आग से तू चांद में बदल जाएगी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जबसे तुमसे इश्क हुआ है, कैसे निबाहूं रिश्तों को

love shyari next

आज हमने बुझा दिए हैं उन सभी चिरागों को
जिसमें हमने देखा था इस दुनिया की राहों को

अगर कहीं तुम मिल जाओगे, कर देंगे तुमको अर्पण
तेरे खातिर ही रखते हैं पलकों में कुछ अश्कों को

मेरी तन्हाई में कितनी रंजिश है तू क्या जाने
जबसे तुमसे इश्क हुआ है, कैसे निबाहूं रिश्तों को

तेरे रिवाजों में लिखा है आगे बढ़के न कहना
दीवाने भी कह न सकेंगे अपने दिल के सजदों को

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दर्द टूटा है बड़ी जोर से आहें भरके

love shayari hindi shayari

दर्द टूटा है बड़ी जोर से आहें भरके
आह निकली है बड़ी देर से सजदा करके

दीद तेरी ही हुई थी, हिज्र तुमसे ही मिले
इश्क तो रह गया है मौत का नगमा बनके

शमा, मेरे हाल पे मेरे तू नाराज न हो
तू देख खामोशी से एक परवाना जलते

मौत जब आ ही गई तो गिला क्या करें
जिंदा रहते तो तेरे गम को सदमा कहते

सजदा- इबादत, सिर झुकाना
दीद- दर्शन, to see
हिज्र- जुदाई

©RajeevSingh #love shayari