Tag Archives: सांस शायरी

शायरी – मेरी आंखों में तेरी झलक की लकीर ही सही

meri aankhone me shayari

 

मेरी आंखों में तेरी झलक की लकीर ही सही
मेरे पास तू तो नहीं, तेरी एक तस्वीर ही सही

तेरी बाहों में मेरी खुशियों की धन दौलत है
तुझे पाने को भटकता दिल फकीर ही सही

इश्क की आखिरी सांसों की जिंदगी हो तुम
मरते रांझे के सीने में धड़कती हीर ही सही

तेरे जख्मों की किताब को पढ़ता है दीवाना
तेरी कहानी में जो मिले वो तकदीर ही सही

Written by Rajeev Singh

Advertisements

shayari – अहसासों को अपने दिल में न दबाया करो

shayari latest shayari new

चलती सांसों को शायरी इमेज

अहसासों को अपने दिल में न दबाया करो
जो भी कहना हो उसे खुलकर बताया करो

जिंदगी के दर्द को तुम छुपाते हो क्यों हमसे
मेरी सुनो और तुम अपनी भी सुनाया करो

ये वादा है तुमसे कि तेरा हर जख्म भर दूंगी
मेरी मोहब्बत पे ऐतबार कर आ जाया करो

साथ दो मेरा कि मैं अपने वजूद को पा सकूं
चलती सांसों को कोई मकसद दिलाया करो

shayari green pre shayari green next

शायरी – मिला अब तक किसी के पास इस दर्द का इलाज नहीं

love shayari hindi shayari

सांस और धड़कनों में रही अब तेरी भी याद नहीं
नसों में दौड़ती जिंदगी किसी की मोहताज नहीं

वो कौन सा मौसम था कि तेरा शोर था जीवन में
ये कौन सा मौसम है कि दूर तक कोई आवाज नहीं

बड़ी मशक्कत से मैंने ये तनहा दुनिया बसाई है
महफिल में बुलावे पर कहता हूं फिर कभी, आज नहीं

अपने जख्मों के लिए तलाशते रहे हसीं चारागर
मिला अब तक किसी के पास इस दर्द का इलाज नहीं

चारागर- डॉक्टर, इलाज करने वाला

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – जो भी खोया था वो याद आया

love shayari hindi shayari


जिसको पाया था उसे भूल गया
जो भी खोया था वो याद आया

मुझे जो बातें उनसे कहनी थी
उनके जाने के बाद याद आया

अपनी हर सांस की आहट पे
मुझे आठों पहर वो याद आया

ये गजल जब भी पढ़ी हमने
उनके आने का सबब याद आया


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी गजल- जख्म तो सब देते हैं मगर

love shayari hindi shayari


जिंदगी में इतने गम हैं
मरा नहीं, ये क्या कम है

तुझे अपने सीने में रखेंगे
जब तलक सांसों में दम है

जख्म तो सब देते हैं मगर
कोई नहीं मेरा मरहम है

तुमको खोकर मैंने जाना
हर खुशी एक वहम है


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – उसे फिर से पा लिया जिसे खो चुका था मैं

love shayari hindi shayari

उसे फिर से पा लिया जिसे खो चुका था मैं
फिर से मिली सांस वरना मर चुका था मैं

अच्छा हुआ फिर रास्तों पर तुम मिल गए
तेरी यादों के हर जख्म से उबर चुका था मैं

कांटे जब दिल को फूल सा सुख देने लेगे
उससे पहले दर्द से बहुत गुजर चुका था मैं

इश्क की खामोशी में कहां तक सुकूं मिले
बेचैन रात में सन्नाटा सा पसर चुका था मैं

©RajeevSingh # love shayari