Tag Archives: सात जनम शायरी

शायरी – तेरे आने से मैं अपना चमन भूल गई

love shayari hindi shayari

तेरे आने से मैं अपना चमन भूल गई
जो निभाना था घर से, वो वचन भूल गई

सात जनमों की भला कौन खबर रखे
तेरी दहलीज पे जब मैं ये जनम भूल गई

क्या जमाना भी करेगा हमसे शिकवा
जब जमाने के कीए सारे सितम भूल गई

दीवानी होकर तेरे पास चली आई हूं
तुमको देखा तो दिल की लगन भूल गई

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – बस यही गिला है हमें अपनी नाकाम जिंदगी से

new prev new shayari pic

बस यही गिला है हमें अपनी नाकाम जिंदगी से
एक ख्वाहिश थी आखिरी, तू हमें मिल न सकी

कहां सात जनम तक साथ निभाने का वादा था
कहां सात कदम भी तू मेरे साथ चल न सकी

अब किसी से दिल लगाने का जी नहीं करता
मोहब्बत एक बार जो गिरी फिर संभल न सकी

खुद अपना ही भरोसा था कि जिंदा रहा वरना
तू तो अपने आशिक की जिंदगी बदल न सकी

 

©rajeev singh shayari