Tag Archives: सादगी शायरी

शायरी – मेरे दिल को छूने वाली सादगी की दीवानी है

new prev new next

हर दिल में किसी हसीं चेहरे की निशानी है
इस दुनिया में सबकी अपनी प्रेम कहानी है

उसने कभी जिंदगी में संवरना नहीं सीखा
मेरे दिल को छूने वाली सादगी की दीवानी है

मोहब्बत करने वालों पर होते हैं जुल्मो सितम
कई जख्म खाने को ही आती ये जवानी है

हजारों फूल भले आकर इस दामन में भर जाए
मगर काटों को तलाशना ही दिल की नादानी है

©RajeevSingh

Advertisements

शायरी – इन भरी आंखों से दुआ न दो

love shyari next

बुझ गए चांद को सदा न दो
इस कदर दिल को सजा न दो

तुम किसी की खुशी के लिए
इन भरी आंखों से दुआ न दो

जिसने दुनिया में जीना सीखा
उसके ईमान का वास्ता न दो

हुस्न और सादगी का वो चेहरा
यादकर दर्द को रास्ता न दो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तू वफा पे दाग दे गया, बेवफा हुआ तो क्या हुआ

new prev new shayari pic

मुझसे जुदा-जुदा हुआ, तो क्या हुआ, तो क्या हुआ
एक चकोर था इस खिजां में, वो उड़ गया तो क्या हुआ

मसले हुए एक फूल से किसी बुत की बन्दगी न हो
मैं जमीं पे गिरी रह गई, वो कुचल गया तो क्या हुआ

मैं शाम से ही उदास हूं कि चांद की कुछ खबर मिले
मैं घटा को चीर न सकी, वो छुपा रहा तो क्या हुआ

तेरी सादगी जब तक रही, चुनरी मेरी मैली न थी
तू वफा पे दाग दे गया, बेवफा हुआ तो क्या हुआ

खिजां – पतझड़

©rajeevsingh       love shayari

शायरी – हमने तो बेवफा के भी दिल से वफा किया

nextprev

हमने तो बेवफा के भी दिल से वफा किया
इसी सादगी को देखकर सबने दगा किया

मेरी तिश्नगी तो पी गई हर जख्म के आंसू
गर्दिश में आके हमने अपना घर बना लिया

मेरे सामने खुदा भी भला आ पाए तो कैसे
जिसके सितम को हंसके गले से लगा लिया

परेशानियों के दम पे टिकी है ये जिंदगी
इस गम से ही जीवन का सपना सजा लिया

तिश्नगी – प्यास
गर्दिश – बुरे दिन

©RajeevSingh