Tag Archives: सायरी

शायरी – नशीली रातों को तुझपे नाज आज भी है

new prev new next

हसीन वादियों में तेरी याद आज भी है
इन फिजाओं में तेरी आवाज आज भी है

कैसे भूलेंगे लोग आसानी से मोहब्बत को
दुनिया में शाहजहां का ताज आज भी है

दिलवालों का सर कलम कर देने के लिए
सदियों का यह दुश्मन समाज आज भी है

आंख लगती है तो तेरे ही ख्वाब आते हैं
नशीली रातों को तुझपे नाज आज भी है

©RajeevSingh

Advertisements

शायरी – जबसे तुम मेरी जिंदगी में चली आई हो

new prev new next

न जाने कबसे तेरी तलाश में भटक रहा हूं मैं
अब जो मिली हो तो दिल में मटक रहा हूं मैं

मेरी हर बात पर तुम इस तरह हंसती हो
देखो दुनियावालों की नजर में खटक रहा हूं मैं

मुझे उतारकर मेरी जान तुम कब पहनोगी
तेरी खूंटी पर जाने कबसे लटक रहा हूं मैं

जबसे तुम मेरी जिंदगी में चली आई हो
तबसे महफिल भूल कमरे में अटक रहा हूं मैं

©RajeevSingh

शायरी – जुदा होकर ये दिल तुमसे और जुड़ गया है

new prev new next

दुनिया में भले न हो मेरा कहीं ठिकाना
तेरे दिल के करीब हो मेरा ये आशियाना

मेरी तरफ जानेजां गुनाहों की नजर फेरो
हर बार जुर्म करो तुम और भरूं मैं जुर्माना

जब सदियां बीत गईं तेरा इतंजार करते
फिर वक्त का ही आशिक बना तेरा दीवाना

जुदा होकर ये दिल तुमसे और जुड़ गया है
अब जख्म ही दे रहा है मुसकाने का बहाना

©RajeevSingh

शायरी – मुहब्बत के समंदर में दिलदार बहुत हैं

love shayari hindi shayari

मुहब्बत के समंदर में दिलदार बहुत हैं
यहां कश्तियां हैं कम, पतवार बहुत हैं

इस दुनिया में बेवफाओं का एक है उसूल
वो अक्सर कहते हैं कि मेरे यार बहुत हैं

तेरे नाम की माला जपने जो कोई बैठा
उसे काटने को समाज में तलवार बहुत हैं

देख ओ जमाना चला तेरे दर से दीवाना
उसके लिए सहराओं के घरबार बहुत हैं

सहरा- वीरान जगह

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – इश्क में दिल मेरे ये तो होना ही था

love shayari hindi shayari

आसमां देखने में खता हो गई
चांदनी आज मुझसे खफा हो गई

मेरे कदमों ने जिसपे भरोसा किया
राह अक्सर वही बेवफा हो गई

जिंदगी ऐसे मंजर दिखाती रही
मुझमें रोने की ताकत दफा हो गई

इश्क में दिल मेरे ये तो होना ही था
एक खुशी थी जो हमसे जुदा हो गई

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – इश्क में इन आंखों में अश्कों की सौगात थी

love shayari hindi shayari

इश्क में इन आंखों में अश्कों की सौगात थी
चार दिन की चांदनी थी फिर अंधेरी रात थी

उम्रभर के वास्ते चिंगारियां मिलीं कुछ सही
मुद्दत से मेरे दिल में जली-बुझी सी खाक थी

कदमों के फासले से ही नापेंगे धरती कब तलक
मुझे हर कदम पे एक नई जमीन की तलाश थी

आते हैं वो शब ए याद में इस चांद की तरह
मुझे जिंदगी में बस उसकी रोशनी की प्यास थी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जब-जब सितम तूने किया, हम सह गए दिल खोल कर

love shayari hindi shayari

मुझे देखकर मुंह फेर लो, ऐसी भी क्या तेरी बेरुखी
महफिल में दूर-दूर हो, ऐसी भी क्या तेरी बेबसी

मुड़के जो देखती हो तुम, मजबूर हो क्यूं दिल से तुम
मुझे इस तरह न तलाश कर कि बदनाम हो दीवानगी

जब-जब सितम तूने किया, हम सह गए दिल खोल कर
जालिम है तेरी हर अदा, कातिल है तेरी आशिकी

खत की तरह खामोश तुम, तेरा हुस्न ही मजमून है
तेरे नैनों पे गजल लिखी, तेरे नक्श में है शायरी

मजमून- खत के अंदर लिखी बातें

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari