Tag Archives: सावन शायरी

शायरी – न आंखों को चैन न जिगर को करार आया

love shayarihindi shayari

न आंखों को चैन न जिगर को करार आया
मेरे हिस्से मोहब्बत में बस इंतजार आया

वो मिल न सकी फिर भी उससे मिलते रहे
खयालों में उसपे मैं सबकुछ निसार आया

बरसता रहा गम आंखों से सावन की तरह
हर मौसम मेरे लिए दर्द की फुहार लाया

अब न रहा कुछ भी इस जमाने से वास्ता
तुझे खोकर दुनिया के रिश्ते बिसार आया

बिसारना- भुलाना

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – जिस गम ने जीना सिखाया, बस उसका तकाजा है

love shayari hindi shayari

जिस गम ने जीना सिखाया, बस उसका तकाजा है
कि दिल अब तक ढो रहा मुहब्बत का जनाजा है

उम्मीदों के फूल गुलशन में कबके मुरझा चुके
जो बचा है खिजां में वो कांटों का तमाशा है

सावन से कह दो कि मेरे आंगन में ना बरसे
यहां पहले से आंखों को बरसने में मजा सा है

मुंतजिर है तेरी राह देखता कबसे एक मुसाफिर
उसको तेरे हुस्न में सुकूं पाने का दिलासा है

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – सावन आया हर रातों में

love shayari hindi shayari


आग ये कितनी दूर जली है
हमपे ये लौ बरस रही है

दूर निगाहों से होकर भी
वो आंसू मुझे परोस रही है

हिलता नहीं है एक भी पत्ता
कोई आंधी तरस रही है

सावन आया हर रातों में
दुख की घटा गरज रही है


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जो पल गुजारे हमने तेरी याद में

love shyari next

बेदर्द ये रातें और हिज्र के मौसम
खुद पर खामोशी से मनाते हैं मातम

दिल में उठा अभी आंसू के तूफां
नजरों के रहगुजर में आया है सावन

बस्ती में कहीं पर निशां नहीं तेरा
हम ढूंढ़ रहे हैं कबसे तेरा आंगन

जो पल गुजारे हमने तेरी याद में
हर पल मिला है तेरे दर्द का दामन

हिज्र- जुदाई

©RajeevSingh # love shayari