Tag Archives: सिलसिला शायरी

शायरी – महसूस हुआ ये जब दुनिया में वो मिला

love shayari hindi shayari

महसूस हुआ ये जब दुनिया में वो मिला
कांटों की भीड़ में वो एक फूल सा खिला

कैसे बुझेगा जाने शबे-गम का इंतजार
बेसब्र सा एक चिराग फलक पे है जला

क्या खूब है जवानी और आलमे-तन्हाई
है दूर तलक उसकी ही यादों का सिलसिला

मिलता तो है करीब से पर बाकी है कसर
दूरी तो घट गई मगर अब भी है फासला

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – कांटें मिले हैं जिसको उसे मैं दिलजला लिखूं

love shayari hindi shayari

इस दर्द की तारीफ में अब क्या गिला लिखूं
दिन-रात के फिराक का क्या सिला लिखूं

बस्ती में खिला फूल भी औरों का हो चुका
कांटे मिले हैं जिसको उसे दिलजला लिखूं

घर लौटते हैं किसलिए अपनों से लड़ते लोग
नहीं जानता उन्हें तो क्यूं बुरा भला लिखूं

मेरे सफर में रह सका न कोई मेरे साथ
तन्हाइयों को ही मैं अब सिलसिला लिखूं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – कभी तो मिलोगी तुम उसी दरिया पे बैठे हुए

love shayari hindi shayari

हम दरिया के पास थे शाम में बैठे हुए
भीड़ से दूर तन्हाई में चुपचाप से बैठे हुए

खामोशी का सिलसिला यूं ही चलता रहा
जाने कितने दर्द थे दिल में भी बैठे हुए

जब हुआ अंधेरा तो चांद और निखर गया
तुमको याद करते रहे हम भी वहीं बैठे हुए

शाम भी गुजर गई और ये सोचते घर आ गए
कभी तो मिलोगी तुम उसी दरिया पे बैठे हुए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari