Tag Archives: सूरत शायरी

शायरी- याद रहा चेहरा दिलबर का

love shyari next

उनकी गली को जबसे जाना
बिसर गया मैं रस्ता घर का

अपनी सूरत भूल गया मैं
याद रहा चेहरा दिलबर का

हाल मिला नहीं अब तक हमको
उनके दिल के अंदर का

आंखों के आंचल का आंसू
भिगो गया दामन चादर का

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – दर्द लिखता है तेरे हुस्न के कयामत को

new prev new next

दर्द लिखता है तेरे हुस्न की कयामत को
दिल तड़पता है तेरे दर्द में मर जाने को

हर अमावस पे जब चांद नहीं दिखता है
मैं तरसता हूं निगाहों का नूर पाने को

तेरी सूरत ने संवारे थे आईने मेरे
तेरी खामोशी ने तोड़ा है दीवाने को

शाम तेरी बुझी निगाहों सी आती है
हम आए हैं तेरी पलकों में डूब जाने को

©RajeevSingh

शायरी – दर्द है सीने में और जिस्म में तन्हाई है

love shayari hindi shayari


गम से याराना नहीं, गम से आशनाई है
दर्द है सीने में और जिस्म में तन्हाई है

एक सुरीली सी हवा तेरे दर पे ले आई
क्या खबर थी कि ये हिज्र की शहनाई है

अब उदासी ही दिखेगी मेरी सूरत में
अपनी ये तस्वीर मैंने तुमसे ही बनवाई है

आंख भर लेते हैं जब याद तेरी आती है
तेरे खातिर ही मैंने बांध ये खुलवाई है

हिज्र – जुदाई


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तुम्हारे गम से दिल रोता रहा रातभर तन्हा

love shayari hindi shayari

जमाना सो गया और मैं जगा रातभर तन्हा
तुम्हारे गम से दिल रोता रहा रातभर तन्हा

मेरे हमदम तेरे आने की आहट अब नहीं मिलती
मगर नस-नस में तू गूंजती रही रातभर तन्हा

नहीं आया था कयामत का पहर फिर ये हुआ
इंतजारों में ही मैं मरता रहा रातभर तन्हा

अपनी सूरत पे लगाता रहा मैं इश्तहारे-जख्म
जिसको पढ़के चांद जलता रहा रातभर तन्हा

(इश्तहारे-जख्म-  जख्म का इश्तहार)

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तस्वीर के मानिंद ही आँखों में आ जरा

love shayari hindi shayari

घूंघट उठा ऐ अजनबी, सूरत दिखा जरा
पर्दे की ओट में न छिप, बाहर निकल जरा

दिल के सफ़र में कट गई रातें जगी हुई
मुद्दत हुए सोया नहीं, लोरी सुना जरा

बढ़ती हुई ये धड़कनें, होती हुई तेज सांस
पसीने-पसीने हो गया, आंचल डुला जरा

राहत मिलेगी चंद पल तुझको निहारकर
तस्वीर के मानिंद ही आंखों में आ जरा

©RajeevSingh # love shayari

शायरी – वो गजल है जो मिली है कोरे कागज को

love shayari hindi shayari

समर्पित है ये मेरा प्यार एक मूरत को
भूल न पाऐंगे उस दर्द भरी सूरत को

उसकी तस्वीर है मेरी निगाहों में बसी
अश्क ही है जलाने के लिए दीपक को

ये मेरा दर्द मेरे सीने में दफन ही रहा
यही चाहिए मरने के लिए आशिक को

चाहतें ना मिली मगर बेरुखी ही सही
वो गजल है जो मिली कोरे कागज को

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – सुन लो मैंने क्या सीखा है तेरे ही आईने से

love shyari next

देखता हूं आईना, देखता हूं कुछ नहीं
अपनी सूरत के बारे में सोचता हूं, कुछ नहीं

सुन लो मैंने क्या सीखा है तेरे ही आईने से
देखता हूं मैं बस तुमको, बोलता हूं कुछ नहीं

देखना गर देखना हो, देख लेना खुद ही को
आखिर में तुम पाओगी, आईना है कुछ नहीं

देखना भी एक हुनर है, आईना है निगाहों में
अपने अंदर जब-जब देखा, बाहर देखा कुछ नहीं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दिल की एक नाजुक कली पे दर्द के शबनम रखे हैं

love shayari hindi shayari

भीगी भीगी दो निगाहें, सहमे-सहमे लबों का जोड़ा
जुल्फें सावन सी घनेरी, सूरत पे हया का बसेरा

गोरे बदन की चांदनी से मौसम में फैला है उजाला
तेरे शबाब की आग में जलकर रोज आता है सबेरा

दिल की एक नाजुक कली पे दर्द के शबनम रखे हैं
मुसकानों की खुशबू में छुप जाता है हर गम तेरा

तन्हा सी मुसाफिर हो तुम, तेरी अदाओं में है उदासी
कोरे कागज सा सादा मन, तुम ही तो सपना हो मेरा

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari