Tag Archives: सौदागर शायरी

शायरी फोटो – अब असर करता नहीं दुनिया का कोई जहर

red prev shayari pic red next

नागिन शायरी फोटो
जिंदगी को एक बार नागिन ने जो डस लिया
अब असर करता नहीं दुनिया का कोई जहर
Advertisements

शायरी – इश्क एक मजबूर ही इस जमीं पे कबसे है

new prev new shayari pic

चाँदनी बड़ी दूर ही आसमा पे कबसे है
इश्क एक मजबूर ही इस जमीं पे कबसे है

आज सुनता हूँ कहीं पर हो गया ये हादसा
प्रेमियोँ को फूँकने का रस्म यहाँ पे कबसे है

प्यार ये अपनों से भी भला क्यूँ करने लगे
खून के रिश्तों में भी दुश्मनी ये कबसे है

अक्ल से जो काम लेंगे, क्या करेंगे वो वफा
दिल को सौदागर बनाने का चलन ये कबसे है

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – अश्क में डूबी नज़र है, दर्द है खूने जिगर

new prev new next

इश्क की बाजी में हारे जाने कितने बाजीगर
इस तिजारत में बिके जाने कितने सौदागर

सिर्फ इतनी सी खला है मौत भी मुमकिन नहीं
अश्क में डूबी नज़र है और दर्द है खूने जिगर

फासला ही एक हकीकत और यही अंजाम है
फुरकतों की वादियों में है आशिकों का शहर

जिंदगी को एक बार नागिन ने जो डस लिया
अब असर करता नहीं दुनिया का कोई जहर

तिजारत – व्यापार
फुरकत – जुदाई

©RajeevSingh