Tag Archives: होठ शायरी

शायरी – होठों से तू हंसती है, आंखो से तू रोती है

love shyari next

सूरत पे हर इक पल में दो प्यास उभरती है
होठों से तू हंसती है, आंखों से तू रोती है

शम्मे न जला तू अभी, रहने दे अंधेरे को
तू रात के पहलू में एक चांद सी लगती है

हाथों के इशारे से मुझे रोक ना रोने से
आंसू नहीं रूकते हैं जब दूर तू जाती है

मिलती है जो तू ऐसे उल्फत की अदा लेकर
लगता है मेरे दिल की हर बात तू पढ़ती है

©RajeevSingh

शायरी – छुपते हैं बेवफा जब मुस्कुराहटों के पीछे

love shayari hindi shayari

अंधेरी तन्हाई में हम तबसे बुझ रहे हैं
गैरों के घर में जबसे शम्मे जल रहे हैं

छुपते हैं बेवफा जब मुस्कुराहटों के पीछे
देखिए किस अदा से दो होठ हिल रहे हैं

गिरते हैं ठोकरों से और चोट भी खाते हैं
पथरीले रास्तों पे हम फिर भी चल रहे हैं

कमसिन सी एक पुरवाई बन गई है आंधी
ये किसकी आह है जो मौसम बदल रहे हैं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – इश्क में रोने से बेहतर तो आँसू को पी जाना है

prevnext

इश्क में रोने से बेहतर तो आँसू को पी जाना है
दर्द को भरके इन आँखों में होठों से मुसकाना है

क्या जाने वो उनके खातिर कोई कितना रोता है
अपने आँसू के साये से उनको हमें बचाना है

उनको अपने दिल में बसाकर दर्द को जिंदा रखूँगा
मैं शैदाई और क्या चाहूँ, यही जीने का बहाना है

जितने जलवे देखे दुख के, सारे जलवे फीके हैं
उनसे जुदाई के दुख को बस अपने गले लगाना है

शैदाई – आशिक

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari