बच्चों से दिन अब कहां शायरी ईमेज

बच्चों से दिन शायरी ईमेज

घटती गई हर साल में मिलने की दो घड़ी
हम-तुम बड़े हो चले, बच्चों से दिन अब कहां

दिल की दुनिया में दूसरों का दर्द होता है, जिसकी जिंदगी में गम हो वो दूसरों के लिए भी रोता है, उसे देख सारा जमाना हंसता है।

Leave a Reply